महाराष्ट्र में बढ़ा चक्रवाती तूफान 'क्यार' का खतरा, बरपा सकता है कहर

मुंबई। महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान क्यार का खतरा बढ़ गया है, जिसके चलते मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के तटीय जिलों रत्नागिरि और सिंधुदुर्ग में भारी बारिश होने का अलर्ट जारी किया है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने शुक्रवार को कहा कि पूर्व-मध्य अरब सागर पर चक्रवाती तूफान क्यार तेजी से उठ रहा है, जिसका केंद्र मुंबई के रत्नागिरि से लगभग 200 किमी पश्चिम में है. मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले पांच दिनों में यानी 31 अक्टूबर तक यह चक्रवाती तूफान ओमान तट की ओर बढ़ेगा. महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान क्यार के चलते बहुत भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग के मुताबिक तूफान क्यार शक्तिशाली चक्रवात में बदल सकता है, जिसके चलते कर्नाटक और महाराष्ट्र में तेज हवाएं चलने और भारी बारिश होने की संभावना है. मौसम विभाग के मुताबिक क्यार चक्रवात के चलते हवाओं की रफ्तार शनिवार को 110 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है. वहीं इस तूफान का महाराष्ट्र के रत्नागिरि, सिंधुदुर्ग, रायगढ़ सहित गोवा और उत्तर कर्नाटक के तटीय इलाके प्रभावित हो सकते हैं.
मछुआरों को समुद्र तट पर न जाने की सलाह
समाचार एजेंसी पीटीई के मुताबिक मौसम विभाग के पूर्वानुमान के चलते पालघर जिला कलेक्टर कैलाश शिंदे ने मछुआरों को समुद्र तट पर नहीं जाने की सलाह दी है. वहीं जिला मत्स्य अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि 1411 नौकाएं समुद्र में गई थीं, जिन्हें वापस लाया गया है.

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट