मनोहर लाल खट्टर कल लेंगे CM पद की शपथ, दुष्यंत चौटाला बनेंगे डिप्टी सीएम

चंडीगढ़। हरियाणा में नई सरकार के गठन का रास्ता साफ करते हुये राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने भारतीय जनता पार्टी और जननायक जनता पार्टी(जजपा) गठबंधन को राज्य सरकार बनाने का आज निमंत्रण दे दिया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्यपाल को सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद राजभवन से बाहर निकलते हुये मीडिया से बातचीत में जानकारी देते हुये बताया कि राज्यपाल ने उन्हें रविवार दीवाली के दिन सवा एक बजे राजभवन आमंत्रित किया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर दूसरी बार हरियाणा के मुख्यमंत्री बनेंगे जबकि जजपा प्रमुख विधायक दुष्यंत चौटाला उपमुख्यमंत्री बनेंगे।  आज भाजपा-जजपा की बैठक के बाद मनोहर लाल खट्टर, केंद्रीय मंत्री रविशंकर, जजपा प्रमुख दुष्यंत चौटाला समेत अन्य दिग्गज सरकार बनाने का दावा करने राज्यपाल सत्यदेव नारायणआर्यसे मिलने राजभवन पहुंचे।उनके साथ भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह, हरियाणा भाजपा के प्रभारी डॉ. अनिल जैन और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला भी थे।
 उन्होंने बताया कि शपथ ग्रहण समारोह अपराहन सवा दो बजे शुरू होगा जिसमें वह दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण करेंगे। उनके साथ उप मुख्यमंत्री के रूप में जजपा के दुष्यंत चौटाला भी शपथ ग्रहण करेंगे। इस सवाल पर कि उनके साथ कितने विधायक मंत्री पद की शपथ ग्रहण करेंगे तो उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी कल दी जाएगी। लेकिन इतना तय है कि भाजपा और जजपा के कुछ मंत्री और राज्य मंत्रियों के अलावा निर्दलीय विधायक भी मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। मुलाकात के दौरान भाजपा-जजपा सरकार बनाने का दावा पेश किया गया। दुष्यंत चौटाला ने राज्यपाल को भाजपा को जजपा के समर्थन वाला पत्र भी सौंपा।मुलाकात के बाद मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि राज्यपाल ने हमें बुलाया था और हमने सरकार बनाना का दावा पेश कर दिया।मैंने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है जिसे स्वीकार कर लिय गया है।कल दोपहर सवा 2 बजे राज भवन में शपथ ग्रहण समारोह होगा और दुष्यंत चौटाला उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।आज खट्टर को यहां भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) विधायक दल का सर्वसम्मति से नेता चुन लिया गया। 
भाजपा ने शुक्रवार को ही जजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने और पार्टी को हरियाणा की अगली सरकार में उपमुख्यमंत्री पद देने का वादा किया था।भाजपा के 40 नवनिर्वाचित विधायकों की यहां यूटी गैस्ट हाउस में करीब 11.30 बजे बैठक हुई। बैठक में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अरूण सिंह बतौर केंद्रीय पर्यवेक्षक और प्रदेश मामलों के प्रभारी अनिल जैन भी उपस्थित थे। करीब दस मिनट तक चली इस बैठक में विधायक दल के नेता पद के लिये खट्टर के नाम का प्रस्ताव रखा गया जिसे सभी ने सर्वसम्मति से सहमति प्रदान की। खट्टर के विधायक दल का नेता चुने जाते ही उन्हें मिठाईयां खिला कर और पुष्पगुच्छ देकर बधाईयां देने के लिये पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का तांता लग गया। खट्टर ने इस अवसर पर मीडिया को सम्बोधित करते हुये कहा कि उन्होंने गत पांच साल साफ सुथरी सरकार दी है तथा आगे वह जजपा और अन्य विधायकों को साथ लेकर साफ सुथरी सरकार देने का वादा करते हैं। उन्होंने उन्हें विधायक दल का नेता चुने जाने के लिये पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और विधायकों को आभार व्यक्त किया।
 

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट