आजादी के 72 साल बाद पहली बार पहुंची ट्रेन, आतिशबाजी कर ट्रेन का किया स्वागत

भोपाल। भारत में ट्रेन शुरु होने के 166 साल बाद और आजादी के 72 साल बाद मध्य प्रदेश के अलीराजपुर में पहली यात्री ट्रेन बुधवार को गुजरात के छोटा उदयपुर से पहुंची. दोपहर ढाई बजे जब अलीराजपुर ट्रेन पहुंची तो लोग खुशी से झूम उठे और आतिशबाजी कर ट्रेन का स्वागत किया. राज्यसभा सांसद नारायणभाई राठवा और छोटा उदयपुर से सांसद गीताबेन राठवा ने ट्रेन को दोपहर 12 बजे हरी झंडी दिखाकर आलीराजपुर रवाना किया था. बताया जाता है कि इस रेल लाइन का शिलान्यास 8 फरवरी 2008 में हुआ था. उस वक्त यह उम्मीद थी कि अलीराजपुर ट्रेन पहुंचेगी. लेकिन लोगों को पूरे 11 साल इंतजार करना पड़ा. स्थानीय लोग बताते हैं कि अलीराजपुर में 84 साल पहले बस सेवा शुरू हुई थी. इसके बाद कई वर्षों तक नेताओं ने ट्रेन सेवा शुरू करने के वादे लेकिन कोई वादा जमीन पर नहीं उतरा. लेकिन अब जाकर अलीराजपुर में पहली यात्री ट्रेन आई है. गुरुवार यानी आज से ये ट्रेन नियमित तौर पर अलीराजपुर से वड़ोदरा के प्रतापनगर स्टेशन तक चलेगी. फिलहाल शहर और जिले के लोग गुजरात के वड़ोदरा तक ट्रेन में सफर कर सकेंगे. आम लोगों को तो इससे फायदा होगा ही साथ ही क्षेत्र का व्यापार और उद्योग भी आगे बढ़ेगा. बता दें कि फरवरी 2008 में तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और तत्कालीन रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव ने झाबुआ में छोटा उदयपुर-धार रेल परियोजना का शिलान्यास किया था. पहले चरण में अलीराजपुर से छोटा उदयपुर के बीच रेल लाइन बिछाई गई है, जिस पर अब ट्रेन दौड़ेगी.
अलीराजपुर में रेल सेवा शुरू होने के साथ ही अब लोगों की उम्मीद धार तक जल्दी ही ट्रेन सुविधा शुरू करने को लेकर बढ़ गई है. फिलहाल इंदौर-दाहोद प्रोजेक्ट में टिही तक (22 किमी) का काम हो चुका है. ये दोनों काम पूरे होने पर इंदौर को गुजरात के लिए नई कनेक्टिविटी मिल जाएगी.

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट