छठ पूजा के दौरान भगदड़ में 2 बच्चों की मौत

पटना। बिहार के औरंगाबाद में छठ पूजा के दौरान भगदड़ मच गई. इस दौरान 2 बच्चों की मौत हो गई है. हादसे में कुछ लोगों के घायल होने की खबर भी है. ये हादसा देव प्रखंड मुख्यालय स्थित सूर्यकुंड के पास की है. पुलिस ने अभी तक भगदड़ की वजह नहीं बताई है. लेकिन पुलिस का कहना है कि उम्मीद से ज्यादा भीड़ होने की वजह से अफरातफरी मची है.
बता दें कि इससे पहले साल 2012 में भी छठ पूजा के दौरान बिहार की राजधानी पटना में हादसा हुआ था. इस दौरान बांस के बल्लियों से बना पुल टूट गया था. इसके बाद भगदड़ मचने से 18 लोगों की मौत हो गई थी.
मृतकों की पहचान हुई
पुलिस का कहना है कि मृतक बच्चों की पहचान हो गई है. पुलिस के मुताबिक मृतकों में पटना के बिहटा का एक 6 साल का लड़का है, जबकि हादसे में दूसरी मौत एक छोटी बच्ची की हुई है. ये बच्ची भोजपुर के सहार की रहने वाली है, इसकी उम्र मात्र 18 महीने है. इस घटना में कुछ लोगों के घायल होने की भी खबर है.
छठ मेले में मची भगदड़
पुलिस का कहना है कि छठ पूजा को लेकर देव में मेला लगा हुआ था. भगदड़ क्यों मची इसका पता अबतक नहीं चल पाया है, लेकिन ज्यों ही लोगों ने एक-दूसरे को भागते देखा वे भी बिना कारण जाने इधर-उधर भागने लगे, तुरंत ही मेला क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई. प्रशासन ने कई घंटों की कोशिश के बाद हालात पर काबू पाया.
मृतकों के परिजनों को मुआवजे का भरोसा
औरंगाबाद जिले के डीएम राहुल रंजन महिवाल और एसपी दीपक बरनवाल ने मृतकों के परिजनों से मिलकर उन्हें सांत्वना दी है. प्रशासन का कहना है कि नियमों के मुताबिक पीड़ित परिवार को मुआवजा दिया जाएगा. सूत्रों का कहना है कि मृतकों और घायलों की संख्या बढ़ सकती है. 
प्रशासनिक व्‍यवस्‍था नकारा साबित हुई
रिपोर्ट के मुताबिक हर साल यहां लगने वाले मेले में भारी भीड़ उमड़ती है. इस बार भी ऐसी ही उम्मीद थी, लेकिन प्रशासन ने भीड़ को संभालने की पर्याप्त व्यवस्था नहीं की. इसका नतीजा हुआ कि मेले में भगदड़ मच गई.

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट