रिक्शाचालक मामला: कल्याण में होगा ठाणे पैटर्न

ठाणे
अब ठाणे की तरह कल्याण रेलवे स्टेशन पर भी रिक्शा से प्रवास के लिए लाइन लगानी होगी। कल्याण में दिन ब दिन रिक्शा चालकों व प्रवासियों के बीच बढते विवाद का समाधान करने के लिए यातयात पुलिस के कर्मचारियों ने अब कल्याण में भी ठाणे पैटर्न का इस्तेमाल करने का निर्णय लिया है। अब तक सिर्फ शाम के वक़्त प्रवासियों को लाइन में लगकर रिक्शा पकड़ने की शुरूवात की गई थी। इस प्रयोग को नागरिकों का अच्छा प्रतिसाद मिलने के बाद अब इस प्रयोग को स्थायी रूप देने की मांग प्रवासियों द्वारा की जा रही है। कल्याण रेलवे स्टेशन के बाहर कल्याण के अंदरूनी भागों, उल्हासनगर, डोंबीवली, भिवंडी, कल्याण पूर्व व आदि परिसरों में जाने के लिए विविध रिक्शा स्टैंड है। नियमों को ताक पर रखते हुए रिक्शा चालक बीच रास्ते मे रिक्शा लगाकर तीन से अधिक प्रवासियों को बिठा कर ले जाते थे। जिसकी वजह से होनेवाले यातायात समस्या से छुटकारा पाने के लिए पुलिस के पसीने छूट जाते थे। यातयात पुलिस ने रिक्शा चालकों को शिष्टता के साथ काम करने के लिए शाम के वक़्त लाइन लगवाने की शुरूवात प्रयोगात्मक स्तर पर की थी। शहर में बढ़ रही रिक्शा चालकों के खिलाफ शिकायतों की वजह से कल्याण में भी अब ठाणे पैटर्न लागू किया जाएगा। प्रशासन ने प्रवासियों से आव्हान किया है कि नियम से ज्यादा प्रवासी बिठाने वाले रिक्शा में न बैठे और किसी भी शिकायत के लिए हेल्पलाइन पर फोन करे।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट