मंगल 6 नवंबर को करेगा मकर से कुंभ राशि में प्रवेश, ये राशियां होंगी प्रभावि

 

      पंडित  श्री सुब्रतो बैनर्जी 


साहस, पराक्रम, निडरता, आत्मविश्वास और भूमि भवन, संपत्ति का दाता ग्रह मंगल 6 नवंबर को अपनी उच्च राशि मकर का त्याग करके कुंभ राशि में प्रवेश करने जा रहा है। मंगल 2 मई 2018 से मकर राशि में चल रहा था, जो 188 दिन मकर में रहने के बाद अब 6 नवंबर को प्रात: 8.49 बजे कुंभ राशि में प्रवेश कर जाएगा। इस राशि में मंगल 47 दिन रहने के बाद 23 दिसंबर को दोपहर 1.20 बजे मीन राशि में चला जाएगा। मंगल के मित्र ग्रह सूर्य, चंद्र और बृहस्पति हैं।


इसके शत्रु ग्रह बुध और राहु-केतु हैं। शुक्र और शनि के साथ यह सम व्यवहार करता है। मंगल मकर में उच्च और कर्क में नीच का होता है। सभी राशि वालों के लिए भाग्योदयकारक मंगल का मकर से कुंभ राशि में प्रवेश करना कई मामलों में सभी राशि वालों के लिए भाग्योदयकारक साबित होगा। गोचर की 47 दिन की अवधि के दौरान मंगल सभी राशियों को प्रभावित तो करेगा लेकिन अधिकांश मामलों में यह शुभ फलदायी होगा।


यह साहस, पराक्रम में वृद्धि करने वाला साबित होगा। रूके हुए आर्थिक मामलों में तेजी आएगी। स्वराशि और मित्र ग्रहों की राशियों पर प्रभाव मंगल मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी है तथा सिंह, कर्क और धनु-मीन इसके मित्रों की राशियां हैं। अत: इन छह राशियों के लिए मंगल का गोचर शुभ फलदायी रहेगा, रोगों से मुक्ति और आर्थिक संकटों का समाधान होगा। लंबी अवधि से जो काम अटके हुए थे, वे अब फटाफट पूरे होने वाले हैं। साहस, पराक्रम में वृद्धि होगी। सेना, पुलिस, इलेक्ट्रॉनिक्स, इंजीनियरिंग क्षेत्रों से जुड़े हुए लोगों को बड़े अवसर मिलेंगे। जो लोग अपना मकान, प्लॉट खरीदना चाहते हैं उनके लिए समय शुभ रहेगा। प्रॉपर्टी में निवेश लाभदायी होगा। शत्रु राशि रहे सावधान मंगल का शत्रु ग्रह है बुध और बुध मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है। अत: इन राशि वालों को कोई शारीरिक कष्ट आ सकता है।


खासकर रक्त संबंधी कोई रोग परेशान करेगा। मन में अस्थिरता रहेगी। मन विचलित रहेगा। कोई बड़ा निवेश करने से बचें। खासकर भूमि, संपत्ति में पैसा ना फंसाएं। प्रेम के मामलों में हानि उठानी पड़ सकती है। इन राशि वालों के लिए एक बात अच्छी होगी और वह यह कि इनके आत्मविश्वास में जबर्दस्त तरीके से वृद्धि होगी। साथ ही जिनके वैवाहिक कार्य रूके हुए हैं वे बन जाएंगे। सम राशियों पर मिलाजुला प्रभाव मंगल के सम ग्रह हैं शुक्र और शनि। इनसे संबंधित राशियां वृषभ-तुला और मकर-कुंभ। इन चार राशि वालों के लिए मंगल का गोचर मिलाजुला फल लेकर आएगा। आर्थिक संपन्न्ता की राह पर ये लोग आगे तो बढ़ेंगे लेकिन पारिवारिक और सामाजिक जीवन में पद-प्रतिष्ठा में कमी आ सकती है। इन राशि वाले जातकों को मंगल का शुभ प्रभाव हासिल करने के लिए प्रत्येक मंगलवार को हनुमान मंदिर में श्रीफल अर्पित करना है। ऐसा रहेगा मंगल का गोचर मकर से कुंभ 6 नवंबर को प्रात: 8.49 बजे कुंभ से मीन 23 दिसंबर को दोप. 1.20 बजे

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट