छतरपुर में नसबंदी के बाद महिलाओं को जमीन पर लिटाया

भोपाल
 मध्य प्रदेश में विदिशा के बाद अब छतरपुर में भी स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही सामने आई है। यहां के सरकारी अस्पताल में नसबंदी ऑपरेशन के बाद महिलाओं को फर्श पर सोने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्‍हें अस्पताल में पलंग तक नहीं मिला। खबरों के मुताबिक, मध्य प्रदेश में विदिशा के ग्यारसपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में नसबंदी के बाद महिलाओं को जमीन पर लिटाने का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि छतरपुर के जिला अस्पताल से भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है। यहां नसबंदी के बाद महिलाओं को पलंग तक नहीं दिया गया। इतना ही नहीं इलाज के बाद उन्हें स्ट्रेचर तक नहीं मिला, जिसकी वजह से उनके परिजन उन्हें हाथों में उठाकर बाहर लाए। जमीन पर ऐसे लिटाने से महिलाओं को इंफेक्शन का खतरा भी था। साथ ही उन्‍हें एम्बुलेंस की सुविधा भी मुहैया नहीं कराई गई। महिलाओं के परिजनों ने अस्पताल में फैली इस अव्यवस्था पर नाराजगी जताई है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट