जानबूझकर महिला सुरक्षा को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश : स्मृति ईरानी

  नई दिल्ली
 केन्द्रीय महिला एवं बाल विकासमंत्री स्मृति ईरानी ने शुक्रवार को कांग्रेस पर महिला सुरक्षा पर चल रही बहस को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उन्नाव की घटना का जिक्र किया जा रहा है जबकि पश्चिम बंगाल में बलात्कार को राजनीतिक हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया गया उसका जिक्र नहीं किया। लोकसभा में स्मृति ईरानी का बयान, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के बयान के बाद आया। इससे पहले चौधरी ने अपने बयान में उन्नाव दुष्कर्म पीड़ित को जिंदा जलाए जाने का मुद्दा उठाते हुए कहा था कि एक तरफ हिन्दुओं का राम का मंदिर बन रहा है और दूसरी तरफ सीता को जलाया जा रहा है।  इस पर अमेठी से भाजपा सांसद स्मृति ईरानी ने कहा कि बंगाल से एक सांसद (अधीर रंजन चौधरी) ने जानबूझकर महिला सुरक्षा के मुद्दे को सांप्रदायिक रंग देने की दुस्साहस भरी राजनीति की है। वह अपने भाषण में मंदिर का नाम ले रहे हैं। वहीं उन्हीं के राज्य पश्चिम बंगाल में बलात्कार को राजनीतिक हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया गया है।  उन्होंने कहा कि इस तरह के मुद्दों पर राजनीति करने से कांग्रेस को कोई लाभ नहीं मिलेगा। इसके बाद स्मृति ईरानी ने सरकार के महिला सुरक्षा की दिशा में किए जा रहे प्रयासों का जिक्र किया। उनके बयान के दौरान कांग्रेस सांसदों ने हंगामा किया। इस पर  भाजपा की महिला सांसद स्मृति ईरानी के पक्ष में खड़ी हो गई।
 उल्लेखनीय है कि कांग्रेस दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने शुक्रवार को लोकसभा में उन्नाव में रेप पीड़ित को जिंदा जलाए जाने का मुद्दा उठाया। इस दौरान उन्होंने कहा कि एक तरफ हिन्दुओं के राम का मंदिर बन रहा है और दूसरी तरफ सीता को जलाया जा रहा है। देशभर में हैदराबाद में हुई सामुहिक दुष्कर्म की वारदात को लेकर गुस्सा है। इस घटना की जितनी भी निंदा की जाय कम है। वहीं दूसरी ओर उन्नाव में एक रेप पीड़ित को जमानत पर छूट कर आए आरोपियों ने जिंदा जला दिया। वह 95 प्रतिशत जल गई है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट