नहीं मिला कोई सबूत, दोबारा नहीं होगी लोया केस की जांच : देशमुख

नई दिल्ली . महाराष्ट्र सरकार जस्टिस बीएच लोया केस की दोबारा जांच नहीं कराएगी. राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा मुझसे लोगों ने लोया केस की दोबारा जांच कराने की कई बार मांग की है, लेकिन किसी ने कोई सबूत नहीं दिया है. दरअसल, जस्टिस लोया केस में कुछ लोगों ने गृहमंत्री अनिल देशमुख से संपर्क किया था और कुछ दस्तावेज देने का वादा किया था. इनमें से किसी ने भी अब तक कोई सबूत नहीं दिया है. जस्टिस लोया, सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर केस की सुनवाई करने वाले जज थे. महाराष्ट्र में पिछली बीजेपी की अगुवाई वाली सरकार ने 2018 की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि उसने इस मामले की विवेचनात्मक जांच की थी. इसकी जांच रिपोर्ट के मुताबिक, जस्टिस लोया की स्वाभाविक मौत हुई थी.

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट