आरपीएफ की सूझबूझ से बच गई महिला और बच्चों की जान

 मुंबई। आरपीएफ के कर्मचारियोंकी सूझबूझ से महिला और उसके बच्चों की जान बच गई। मामला डोंबिवली आरपीएफ का है जिसमें एक महिला और उसके बच्चे को आरपीएफ ने बचा लिया। महिला अपने बच्चों के साथ लोकल में चढ़ रही थी लेकिन उसका एक बच्चा लोकल में चढ़ गया और महिला उसका एक बच्चा स्टेशन पर ही गिर गए। गिरने के बाद वे स्टेशन और लोकल के बीच के गैप में जाने लगे। लेकिन वहां मौजूद आरपीएफ के स्टाफ ने दोनों को बाहर खींचा और उनकी जान बच गई।   जानकारी के मुताबिक मामला 15 फरवरी के दोपहर करीब 4 बजेजे के लगभग का है। जब प्लेटफॉर्म नंबर 3 पर एक महिला अपने दो बच्चों के साथ ट्रेन पकड़ने जा रही थी। तभी लोकल में भीड़ होने के कारण महिला अपने बड़े बच्चे राज सोनावणे को लोकल मेंचढा दी। लेकिन वो खुद और छोटा बच्चा कार्तिक सोनावणे लोकल में नहीं चढ़ पाए और नीचे गिर गए। वहां मौजूद आरपीएफ स्टाफ एचसी अनूप अब्राहम, बी डी लकड़ा और महिला एमएसएफ मनीषा गायकवाड़ ने मिलकर दोनों को बाहर की तरफ खींचा जिससे उनकी जान बच गई। महिला ने आरपीएफ को बताया कि उसका बड़ा बच्चा लोकल में चढ़ गया है। जिसे आरपीएफने एमएसएफ जवान की मदद से अगले स्टेशन पर उतार लिया गया। जिसके बाद महिला को उसके बच्चो सुपुर्द कर दिया गया। आरपीएफ की सूझबूझ से बच्चे और मां की जान बच गई।  

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट