व्यवसायी की हत्या में बेटा ही निकला कातिल

  गोरखपुर दवा व्यवसायी सईद अहमद की मौत को शुरू में खुदकशी बताने वाली कोतवाली पुलिस ने हैंडवाश रिपोर्ट आने के बाद उनके बेटे अनस को कातिल बताते हुए रविवार को गिरफ्तार कर लिया। न्यायिक अभिरक्षा में उसे जेल भेज दिया है।

 जायदाद का सौदा करने में बाधा बन रहे थे सईद अहमद

 कोतवाली पुलिस का कहना है कि जायदाद का सौदा करने में बाधा बनने पर अनस ने पिता को गोली मारकर मौत के घाट उतारा था। बाद में खुदकशी की कहानी गढ़कर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की थी।

 तीन गोली मारकर की गई थी हत्या

 कोतवाली क्षेत्र के इस्माइलपुर मोहल्ला निवासी सईद अहमद की 13 फरवरी की रात गोली लगने से मौत हो गई थी। शव, उनके कमरे से जुड़े बाथरूम में मिला था। सिर और सीने में तीन गोली लगने से उनकी मौत हुई थी। बेटा अनस और परिजन अवसाद की वजह से खुदकशी करने का दावा कर रहे थे। पहले तो कोतवाली पुलिस भी इस दावे से सहमति जता रही थी, लेकिन बाद में अधिकारियों के दखल देने पर घटना को हत्या मानकर छानबीन शुरू की।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट