मेंहदी का रंग उतरने से पहले ही मांग हो गई सूनी

   प्रयागराज अभी चार दिन पहले ही तो उसकी शादी हुई थी। सोलहों श्रृंगार कर वह सपने संजोए अपने ससुराल पहुंची। घर में शादी की खुशियां मनाई जा रही थी। अचानक कुदरत का कहर बरपा और सब कुछ बदल गया। रह गई तो सिर्फ सिसकियां। नई नवेली दुल्हन के हाथों की मेंहदी का रंग भी नहीं उतर सका था। कौशांबी में यह वाकया पड़ोसी जनपद कौशांबी के मंझनपुर का है।

 मोबाइल का चार्जर निकालते समय करंट की जद में आया था दिनेश

 मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के टेनशाह आलमाबाद निवासी बिहारी लाल के बेटे दिनेश पाल (22) की रविवार की दोपहर करीब एक बजे करंट लगने से मौत हो गई। परिजनों के मुताबिक दिनेश मोबाइल फोन का चार्जर निकाल रहा था। इसी दौरान वह करंट की चपेट में गया। परिजनों को इसकी जानकारी हुई तो वह उसे आनन-फानन में जिला अस्पताल लाए। वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 गमगीन परिवार को ढांढस बंधाने लोगों की भीड़

 इस दुर्घटना की जानकारी जैसे ही उसके परिवार के लोगों को हुई। परिजनों में रोना-पिटना मच गया। पत्नी यह खबर सुनते ही बेसुध हो गई। मुहल्ले के लोग, परिचित और रिश्तेदार सिर्फ आश्वासन के कोई कुछ नहीं कर सका। घटना की जानकारी के बाद पुलिस पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया।

 दिनेश की पत्नी पिंकी का हाल-बेहाल

 दिनेश की मौत के बाद उसकी पत्नी के सामने जाने की हिम्मत परिवार के लोग नहीं जुटा पा रहे हैं। अब वह दिनेश की पत्नी पिंकी को क्या कह कर ढांढस बधाएं, यह उनको नहीं सूझ रहा है। परिवार का हर कोई पिंकी का सीधे सामना करने से बच रहा है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट