बिहार को स्मार्ट बनाना ही पार्टी का लक्ष्य: चिराग पासवान

मुंगेर। देश के सभी राज्यों को एक साथ आजादी मिली, किंतु आजादी के 70 साल बाद भी बिहार पहले की तरह पिछड़ा हुआ है, जबकि दिल्ली, मुंबई जैसे शहर की चमक लगातार बढ़ती ही जा रही है। सबसे ज्यादा आईएएस और आईपीएस देने वाले बिहार राज्य के लोगों को ही रोजगार, व्यावसाय व पढ़ाई के लिए दूसरा राज्य जाना पड़ रहा है। यह बातें लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान ने रविवार को मुंगेर सर्किट हाउस में बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट यात्रा के दौरान पत्रकारों से कहीं।उन्होंने कहा कि बिहार के अधिकांश जिलों में 100 नंबर काम ही नहीं करता है, ऐसे में लोग आपात व मुसीबत के समय पुलिस का सहयोग कैसे ले पायेंगे। आये दिन महिला उत्पीड़न की बात किसी से छिपी हुई नहीं है, बावजूद महिला थाना आज तक जिला मुख्यालयों तक ही सिमटा हुआ है। जबकि महिला थाना प्रखंड से लेकर पंचायत स्तर तक रहना चाहिये ताकि महिलाएं अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सके।उन्होंने कहा कि बिहार और बिहार को फर्स्ट बनाना ही पार्टी का लक्ष्य है। इसके लिए वे और पार्टी के अन्य पदाधिकारी, सांसद, एमएलसी और विधायक सहित अन्य पार्टी कार्यकर्ता लगातार बारी-बारी से विभिन्न जिलों में जाकर विधानसभा स्तर पर आम जनों से यह जानकारी इक्ट्ठा कर रहे हैं कि किस तरह से बिहार और बिहार को फर्स्ट बनाया जा सकता है। लोगों से मिलने वाले सुझावों को वे अपने घोषणा पत्र में शामिल करेंगे। इसके लिए आगामी 14 अप्रैल को पटना के गांधी मैदान में लोजपा की विशाल रैली आयोजित की जा रही है। मौके पर लोजपा के जिलाध्यक्ष राघवेंद्र भारती सहित अन्य मौजूद थे।   

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट