बुधगेरे बाजार में अंधाधुंध फायरिंग, एक व्यवसायी की मौत

गया। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बुधगेरे बाजार में मंगलवार की शाम अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग की। इसमें नन्हक साव के 24 वर्षीय पुत्र बिट्टू साव की मौत हो गयी। घटना के बाद आक्रोशित लोग आरोपित ललन यादव के घर पर टूट पड़े और उसके घर के पास खड़ी दो ट्रैक्टर व आधा दर्जन बाइकों में आग लगा दी। घटना का कारण मामूली विवाद बताया जा रहा है। होली के दिन सुबह में मीट दुकान पर दोनों के बीच तू- तू मै- मै हुई थी। इसको लेकर शाम में अंधाधुंध फायरिंग की गयी। जिसमें बिट्टू साव की मौत हो गयी। करीब 25 राउंड गोली चलाने की बात कही जा रही है। इस दौरान समझाने- बुझाने गए राजद के प्रखंड अध्यक्ष किशोरी यादव को लोगों ने मारपीट कर बुरी तरह घायल कर दिया। लोगों में गुस्सा इतना था कि एडिशनल एसपी संजय भारती मौके पर नहीं पहुंचते तो शायद भीड़ किशोरी यादव को पीटपीट कर हत्या कर देती। एडिशनल एसपी के सक्रिय होने के बाद किशोरी यादव को बचाया गया। घायल किशोरी यादव का इलाज एएनएम अस्पताल में कराया जा रहा है। रोड़ेबाजी में आधा दर्जन पुलिस कर्मी घायल पुलिस को घटना स्थल पर विलम्ब से पहुंचने और आरोपित ललन यादव के मकान में बैठे लोगों को गिरफ्तार करने में देरी करने पर भड़के लोगों ने पुलिस पर जमकर रोड़ेबाजी की। लोगों का आक्रोश देखकर पुलिस को करीब आधा किलोमीटर दूर तक भागने को विवश होना पड़ा। रोड़ेबाजी में करीब आधा दर्जन पुलिस अधिकारी व पुलिस कर्मी घायल हो गये। घायलों में बुनियादगंज थाना के एसएचओ शशि कुमार राणा, सिपाही अमरेन्द्र कुमार , मुफस्सिल थाना के एएसआई मुन्ना कुमार, पुलिस लाइन के सुरक्षा बल सुकुमार तोमर आदि शामिल हैं। हालांकि रोड़ेबाजी में डीएसपी घुरण मंडल एवं एएसआई रामरूप यादव भी चोटिल हो गए। इसके बाद बुधगेरे बाजार पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। स्थानीय लोगों ने शव को मुख्य मार्ग पर रखकर पुलिस के विरोध नारेबाजी कर की। बाद में पुलिस द्वारा समझाने-बुझाने पर मृतक के शव को उठाकर पोस्टमॉर्टम कराकर परिजनों को सौप दिया गया। रात भर पुलिस बाजार में गश्ती करती रही। एसएसपी राजीव मिश्रा ,डीडीसी किशोरी यादव, सीआई जितेन्द्र पाण्डेय व डीएसपी घुरण मंडल भी घटना स्थल पर तैनात थे।


रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट