विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी के विरोध में धरना

मधेपुरा। सदर अस्पताल में मरीजों के लिए मूलभूत सुविधाओं के अभाव को लेकर जिला कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को धरना-प्रदर्शन किया। धरना को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह यादव ने कहा कि स्टॉफ की लापरवाही से मरीजों का ठीक ढंग से इलाज नहीं हो पाता है। इस कारण मरीज प्राईवेट अस्पताल के चिकित्सकों से इलाज कराने को विवश हैं। उन्होंने कहा कि लाखों की लागत से अस्पताल परिसर में आईसीयू भवन बनकर तैयार हैं, लेकिन विशेषज्ञ चिकित्सकों और कर्मियों की कमी से भवन मात्र शोभा की वस्तु बनकर रह गयी है। महिला चिकित्सकों की कमी से महिला मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। अस्पताल में एमआरआई और सीटी स्कैन की कोई व्यवस्था नहीं है। ओपीडी में चिकित्सकों की भारी कमी है। प्राईवेट पैथोलॉजी की नियमित जांच नहीं होने से सही रिपोर्ट नहीं मिल पाता है। जिसके मरीजों को परेशान होना पड़ता मिलता है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट