कोरोना वायरस से बचाव के लिए रहें तैयार, समाज में लाएं जागरूकता

नवादा। कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए पूर्ण रूप से तैयार रहें। कोरोना वायरस से बचाव के लिए समाज में जागरूकता लाएं। आपस में समूह में दूरी बनाकर रहें। बराबर अंतराल पर हाथों की सफाई करते रहें। ये कहना है डीएम यशपाल मीणा का, जो शनिवार को समाहरणालय सभागार कक्ष में कोरोना वायरस से संबंधित स्वास्थ विभाग और जिला स्वास्थ समिति टास्क फोर्स की बैठक को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों के अंदर साफ-सफाई की उचित व्यवस्था रखें। शहरों में भी गंदे नाले का पानी निकासी हेतु पूर्ण व्यवस्था करने का निर्देश कार्यपालक पदाधिकारी देवेन्द्र सुमन को दिया। उन्होंने बताया कि जिले में कोरोना वायरस से बचाव के लिए एन-95 मास्क और 500 पीपी कीट उपलब्ध हैं। उन्होंने सभी एपीएस एवं पीएससी में आइसुलेटेड व्यवस्था के लिए कम से कम 2 बेड लगाने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि इस महामारी से बचने के लिए सभी गांव एवं टोला स्तर पर स्कुल, आंगनबाड़ी, जीविका समूह आदि सभी विभाग के पदाधिकारी एवं कर्मीयों को निर्देश दिया गया है कि इसके लिए जागरूकता फैलाएं। बीएचएम को निर्देश दिया गया कि सभी पीएससी के वेटिंग रूम में मरीजों की देखरेख के लिए डॉक्टर को प्रतिनियुक्त करें। आंगनबाड़ी की सभी सेविका, सहायिका को निर्देश दिया गया कि लोगों को इससे बचने के लिए जागरूक करें। उन्होनें ड्रग इन्सपेक्टर को निर्देश दिया कि महामारी के समय मास्क एवं दवा की कीमतों में कालाबाजारी पर पूर्ण नियंत्रण करें। जिले में दवा की उपलब्धता है। समीक्षा के क्रम में उन्होने पीएमजेएवाई अन्तर्गत गोल्डेन कार्ड निर्माण में प्रगति लाने को कहा। इस कार्य में जन वितरण प्रणाली विक्रेता एवं परिवहन विभाग को भी लगाया गया है। उन्होने निर्देश दिया कि सभी बीएचएम एवं बीएसएम गोल्डेन कार्ड निर्माण में गंभीरता से काम करें, इसके निर्माण से निचले तबके के लोगों को काफी लाभ मिलेगा। डीएम ने कहा कि सरकारी संस्थाओं में व्यवस्था सुदृढ़ करें ताकि ज्यादा से ज्यादा डिलिवरी लोग सरकारी अस्पतालों में ही करवाएं। डिलिवरी कार्य में बेस्ट करने पर आशा कार्यकर्ता को सम्मानित भी किया जाएगा। इस दौरान सिविल सर्जन डॉ विमल प्रसाद, डीआईओ डॉ अशोक कुमार, डीपीआरओ गुप्तेश्वर कुमार, डीपीएम एवं सभी एएचएम उपस्थित थे।

 

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट