बेमौसम बारिश से 51 हजार 963 हेक्टेयर में दलहन की फसल नष्ट

औरंगाबाद। बेमौसम भारी बारिश ने किसानों की कमर तोड़ कर रख दी है। शनिवार को जिले में औसतन 30.06 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई। इस बारिश ने जिले के 44690 हे़ भूमि में लगी दलहनी व 7273 हे़ भूमि में लगी तेलहनी फसल को पूरी तरह नष्ट कर दिया है।इसमें किसानों को करोड़ों का नुकसान हुआ है। 71 हजार हे़ भूमि में लगी गेहूं व 12 सौ हे़ में लगी जौ भी नष्ट होने के कगार पर है। रबी फसलों के खेत में पानी जमा है और फसलें सड़ रही हैं। किसानों के सामने कोई विकल्प विकल्प नहीं है। वे बस मौसम खुलने का इंतजार कर रहे हैं। उनकी नजरें अब सरकार पर टिकी हैं। नवीनगर प्रखंड में सबसे अधिक दलहनी फसल:दलहनी फसलों की खेती सबसे अधिक नवीनगर प्रखंड में की गई है। यहां 5950 हे़ भूमि में दलहन लगी है।  इसी तरह औरंगाबाद प्रखंड में 3680 हे़ में, बारुण में 3180 हे़ में, ओबरा में 3280 हे़ में, दाउदनगर में 2280 हे़ में, हसपुरा में 1890 हे़ में, गोह में 4860 हे़ में, रफीगंज में 5160 हे़ में, मदनपुर में 5030 हे़ में, देव में 4750 हे़ में तथा कुटुंबा प्रखंड में 4630 हे़ भूमि में दलहनी फसल लगाई गई है। भारी बारिश में यह फसलें पूरी तरह नष्ट हो गई हैं। इससे किसानों में त्राहिमाम है। तेलहनी फसल भी सबसे अधिक नवीनगर प्रखंड में लगाई गई है। यहां कुल 1040 हे़ भूमि में किसानों ने तेलहन की खेती की है। इसी तरह औरंगाबाद प्रखंड में 695 हे़ में, बारुण में 496 हे़ में, ओबरा में 520 हे़ में, दाउदनगर में 430 हे़ में, हसपुरा में 430 हे़ में, गोह में 720 हे़ में, रफीगंज में 750 हे़ में, मदनपुर में 641 हे़ में, देव में 770 हे़ में तथा कुटुंबा प्रखंड में 781 हे़ भूमि में दलहनी फसल लगाई गई है। बारिश ने दलहनी फसलों को भी बर्बाद कर दिया है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट