जिलाधिकारी कार्यालय में आम नागरिकों को नो इंट्री

 ठाणे। महाराष्ट्र राज्य में कोरोना को महामारी घोषित कर दी गई है। जबकि ठणे जिले में अब तक कुल सात मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। दूसरी ओर ठाणे जिलाधिकारी कार्यालय में रोजाना सैकड़ों लो$गों का आना-जाना  लगा रहता है। ऐसे लोगों में कोरोना रोगी भी शामिल हो सकते हैं। इस संभावना को देखते हुए ठाणे जिलाधिकारी कार्यालय को आम नागरिकों के लिए बंद कर दिया गया है। ठाणे शहर में कई कंपनियों, कॉलेज, स्कूल, सिनेमाघर व व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद क दिया गया है। अगर कोरोना वायरस का प्रकोप और बढ़ा तो निश्चित रूप से विकट स्थिति आ सकती है। हालांकि प्रशासन मुस्तैदी के साथ इससे निबटने में लगी हुई हैं। इसके प्रादुर्भाव को रोकने के उद्देश्य से प्रतिबंधात्मक उपाय के रूप में जिलाधिकारी कार्यालय में आने जाने वाले आम लोगों पर नियंत्रण रखने का निर्देश देते हुए अब आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है।यदि अति महत्वपूर्ण काम है तो ही कार्यालय आए अन्यथा नागरिक नागरिक घर पर रुके और दैनिक टपाल व अन्य महत्वपूर्ण काम के लिए कर्मचारियों के सुविधा हेतु कार्यालय के प्रवेशद्वार पर ही टपाल स्वीकारने की व्यवस्था की गई है और नागरिक सरकारी कार्यालयों में भी? न करते हुए ई-मेल के माध्यम से भी अपनी शिकायतें, आवेदन आदो ककर सकते है और इसका निपटार सात दिनों के भीतर किया जाएगा। इन बातों का जिक्र करते हुए ठाणे जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर ने नागरिकों से अपील की है कि  जिलाधिकारी ने नागरिकों से अपील किया है कि वे ई मेल का उपयोग कर सकते है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट