कोरोना को हारना है: 11 महीनों से बंद पड़े होटल में रखे जाएंगे कोरोना के मरीज

पटना। कोरोना के संदिग्ध मरीजों को रखने के लिए आयकर गोलंबर स्थित होटल पाटलिपुत्रा अशोक को सालभर बाद मंगलवार को खोला गया। विधानसभा में मुख्यमंत्री की घोषणा बाद इसे खोला गया।  बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम, नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने संयुक्त रूप से होटल पहुंचकर इसका मुआयना किया। होटल लंबे समय से बंद रहने से बदतर हो गया था। होटल के कमरे से लेकर जगह-जगह धूल की परतें थीं। अधिकारियों ने तत्काल होटल में साफ-सफाई का काम लगवाया। होटल की बंद आवश्यक चीजों को चालू करने का निर्देश दिया गया। पर्यटन निगम के एमडी ने बताया कि एक से दो दिन में होटल पूरी तरह संचालित हो जाएगा। इसमें काम तेजी से लगाया गया है। बीते वर्ष अप्रैल में पाटलिपुत्र अशोक होटल केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय से बिहार सरकार के अधीन हुआ था। इसके बाद से यह होटल बंद पड़ा था। इसे फाइव स्टार होटल के रूप में विकसित कर पीपीपी मोड पर चलाने की योजना बनी है। सालभर बीत गए और इसपर अब तक कोई काम नहीं हो सका है। इसके कारण होटल पूरी तरह बदहाल हो गया है।  

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट