खाते हैक करके मुंबई में स्टेट बैंक ऑफ मॉरिशस से उड़ाए 143 करोड़

पैसे चोरी कर कई खातों में भेजे गए हैं मुंबई की साइबर क्राइम सेल मामले की जांच कर रही है मुंबई. स्टेट बैंक ऑफ मॉरिशस (एसबीएम) की मुंबई शाखा को साइबर ठगों ने 143 करोड़ का चूना लगाया है। घटना एक सप्ताह पहले की है लेकिन इस मामले का खुलासा आज हुआ है। मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (ईओडब्ल्यू) इस मामले की जांच कर रही है। बैंक की शिकायत के अनुसार, घटना एसबीएम की नरीमन प्वॉइन्ट शाखा में हुई थी। बैंक के सर्वर को हैक कर कई खातों से 143 करोड़ रुपए उड़ा लिए गए। जिसके बाद बंद ने 5 अक्टूबर को इसकी शिकायत नरीमन पॉइंट पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाई है। कई खातों में ट्रांसफर किए पैसे धोखाधड़ी करने वालों ने बैंक का सर्वर हैक कर खातों की जानकारी निकालली और करोड़ों रुपए भारत से बाहर कई खातों में स्थानांतरित कर दिए। अभी तक पुलिस ने इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं किया है। बैंक ने नहीं दिया कोई भी बयान मॉरीशस के नरीमन प्वाइंट स्टेट बैंक शाखा प्रभारी प्रकाश नारायण ने इस मामले में कुछ भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। ईओओ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सूचना के आधार पर रिपोर्ट दर्ज की गई है और जांच में साइबर विशेषज्ञ की मदद ली जा रही है। 9 महीने में फ्रॉड का तीसरा मामला स्टेट बैंक ऑफ मॉरिशस की नरीमन पॉइंट ब्रांच रहेजा सेंटर के 15वें फ्लोर पर स्थित है। 9 महीनों के भीतर बैंकों में हुए साइबर फ्रॉड का यह तीसरा बड़ा मामला है। पुणे के कॉसमॉस बैंक से भी गायब हुए थे 94 करोड़ इससे पहले फरवरी में चेन्नई यूनियन बैंक की शाखाओं से बैंक फ्रॉड के जरिए 34 करोड़ रुपये और अगस्त में कॉस्मोस बैंक के पुणे हेडक्वॉर्टर से 94 करोड़ रुपये उड़ाए गए थे।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट