लूटेरों ने धरनास्थल पर की थी फायरिंग

गया। एनएच-83 के किनारे चाकन्द थाना क्षेत्र के बारा गांव में पिछले कई दिनों से सीएए के विरोध में जारी अनश्चितिकालीन धरना स्थल के पास बुधवार की रात हुई फायरिंग में शामिल तीनों अपराधी सड़क लुटेरे हैं। बुधवार की रात एनएच पर आवाजाही करने वाले एक बाइक सवार से बाइक लूटने के दौरान इन लोगों ने गोली चलायी थी। एसएसपी राजीव मिश्रा ने गुरुवार को प्रेसवार्ता में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि गोली वीरू ने चलायी थी। फायरिंग की आवाज धरना स्थल पर रहे लोगों ने सुनी और लोगों की भीड़ उस दिशा में दौड़ी। लोगों ने तीनों अपराधियों को धर-दबोचा। उनकी पिटाई शुरू कर दी। धरना स्थल पर रहे लोगों ने समझ लिया कि फायरिंग उनके विरोध में की गयी। फलत: लोगों का गुस्सा बढ़ गया। चाकन्द थानाध्यक्ष सुनील कुमार को इसकी जानकारी दी। थानाध्यक्ष तत्काल बारा गांव पंहुचे। साथ ही सिटी एसपी,डीएसपी डीएसपी विधि व्यवस्था संजीत कुमार प्रभात और भारी संख्या में पंहुचे। पुलिस ने पकड़े गए तीनों अपराधियों को बेलागंज थानाध्यक्ष अविनाश कुमार को सुपुर्द कर दिया। पकड़े गए तीनों अपराधियों में वीरू कुमार खिजरसराय, हरश्चिंद्र वर्मा खिजरसराय के पाठक विगहा का रहने वाला है। दोनों की दोस्ती झारखंड के चतरा के रहने वाले कमलेश कुमार नामक आॅटो चालक के साथ है। उपरोक्त तीनों ने लूटपाट की योजना साथ में बनायी। तीनों युवकों ने पूछताछ में पुलिस के सामने इसका खुलासा किया है। पकड़े गए तीनों युवकों से पूछताछ के बाद उन्हें कोर्ट के समक्ष पेश करने के साथ न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

 

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट