फिर 'गायब' हो गए तेजप्रताप, नया बंगला मिलने के बाद ही लौटेंगे पटना !


पटना. लालू यादव के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव के एक बार फिर पटना छोड़ देने की खबरें हैं. वे कहां गए हैं, अभी तक इसकी पुख्ता जानकारी नहीं है. हालांकि कयास ये लगाए जा रहे हैं कि वे फिर उत्तर प्रदेश के किसी धार्मिक शहर में ही हैं. बताया जा रहा है कि घर से दूर रह रहे तेजप्रताप अब पटना तभी वापस लौटेंगे, जब उन्हें नया बंगला अलाट किया जाएगा. नवंबर के आखिरी हफ्ते में वे पटना पहुंचे थे. उन्होंने विधानसभा के शीतकालीन सत्र में अपनी हाजिरी लगाई और तलाक की अर्जी की सुनवाई में भी हाजिर हुए. हालांकि वे इस दौरान अपने घर नहीं गए. उनके करीबियों की मानें तो लालू प्रसाद के बेटे अपने पिता लालू और मां राबड़ी देवी के साथ नहीं रहना चाहते हैं. वह एक अलग बंगले की मांग कर रहे हैं. बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री रहे तेजप्रताप ने एक हफ्ते पहले ही भवन निर्माण मंत्री को पत्र लिखा है और अपने लिए नए आवास की मांग की है. उनके करीबियों का कहना है कि उन्हें नए बंगले के आवंटन का इंतजार है. उन्होंने विभाग के मंत्री को पत्र लिखकर पटना के टलर रोड स्थित दो नंबर बंगले की मांग की है. तेजप्रताप को पहले देश रत्न मार्ग का 3 नम्बर बंगला आवंटित था. लेकिन मंत्री पद जाने के बाद दारोगा राय पथ में 2 फ्लैट उनके नाम से आवंटित किए गए हैं. बताया जा रहा है कि यह उन्हें पसंद नहीं है. इसी कारण उन्होंने प्रदेश के भवन निर्माण मंत्री को पत्र भी लिखा है. हालांकि उन्हें ये बंगला मिलेगा या नहीं, इस पर अभी संशय बरकरार है. मंत्री का कहना है कि उनका विभाग केवल सेंट्रल पूल के बंगले को ही आवंटित करता है. विधायकों या विधान पार्षदों को विधानसभा या विधान परिषद सचिवालय के माध्यम से ही बंगले मिलते हैं. उल्लेखनीय है कि ऐश्वर्या राय से तलाक के फैसले के बाद से ही तेजप्रताप घर से बाहर रह रहे हैं. लगभग एक महीने तक वह पटना से बाहर रहे. पटना आने के बाद भी तेजप्रताप घर नहीं गए. एक कारण यह भी है कि पूर्व सीएम राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास में ही उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय अभी भी मौजूद हैं. दरअसल ऐश्वर्या राय के साथ पूरा लालू परिवार खड़ा है और तेजप्रताप तलाक की जिद पर अड़े हैं. शायद यही वजह है कि वे अपने लिए नए बंगले की मांग कर रहे हैं

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट