भीड़ के चलते मरीज आपस में भिड़े मरीज

सुपौल। मौसम में उतार-चढ़ाव के कारण लोगों की सेहत बिगड़ने लगी है। लगातार बदल रहे मौसम का असर लोगों की सेहत पर पड़ रहा है। दिन में धूप और रात में ठंड लगने से वायरल बीमारी का प्रकोप काफी बढ़ गया है। सर्दी, खांसी, वायरल बुखार और डायरिया की शिकायत आम हो गई है। बुधवार को सदर अस्पताल के ओपीडी में मरीजों की भीड़ लगी रही। दस बजते- बजते डॉक्टरों के कमरे के बाहर मरीजों की भीड़ और बढ़ गई। ओपीडी का बरामदा मरीजों से फुल हो गया। डॉक्टरों से दिखाने के लिए मरीजों के बीच मारामारी की स्थिति बनी रही। पहले दिखाने को लेकर लाइन में खड़े मरीज बीच-बीच में लाइन तोड़कर आगे बढ़ जाते थे। इससे मरीज और उसके परिजनों के बीच धक्का- मुक्की होती रही। इससे बार-बार लाइन टूट जाती थी और हंगामा शुरू हो जाता। ऐसे में अस्पताल में तैनात सुरक्षा गार्डों को व्यवस्था बनाए रखने लिए खूब पसीना बहाना पड़ा। मेडिकल ओपीडी, महिला वार्ड हो या शिशु रोग वार्ड सभी जगह मरीजों की लंबी लाईन लगी हुई थी। लेकिन सैकड़ों मरीजों को देखने के लिए मेडिकल ओपीडी में डॉ. मिहिर वर्मा और डॉ. अनिल कुमार मौजूद थे। शिशु वार्ड में डॉ. हरिशंकर की ड्यूटी थी जो एसएनसीयू में थे। इसके चलते मरीजों को लाइन में घंटों इंतजार करना पड़ा। इससे मरीज और उसके परिजनों में अफरा तफरी रही। उधर, लैब में जांच के लिए लोगों की भीड़ जमा थी। जिसे नियंत्रित करने के लिए बार-बार पैरामेडिकल कर्मी को गेट बंद करना पड़ता था। आंकड़ों के मुताबिक सदर अस्पताल में ऐसे मरीजों की संख्या 30 प्रतिशत तक बढ़ी है। मौसम में परिवर्तन से खांसी और एलर्जी की शिकायत बढ़ी: डॉ.मिहिर कुमार वर्मा की मानें तो इस मौसम में वायरल बीमारियों से बचने के लिए जरूरी है कि सुबह और शाम के समय में पूरे शरीर को ढंक कर चलें। खासकर बाइक पर चलते समय पूरा कपड़ा पहनें, बच्चों को बाइक पर लेकर घूमें, सुबह-शाम गुनगुने पानी का नियमित सेवन करें।

 

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट