तरक्की और धन कमाने के लिए नौ शानदार उपाय

 वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर से परेशानियां खत्म नहीं हो रहीं है, पैसा टिक नहीं रहा है या फिर कोई ना कोई घर का सदस्य बीमार रहता है तो इसके लिए आपके घर का वास्तुदोष काफी हद तक जिम्मेदार हो सकता है। घर का खराब वास्तु आपके जीवन में कई तरह की परेशानियां खड़ी कर सकता है। जैसे हम मनुष्य घर में मेन गेट से प्रवेश करते हैं वैसे ही घर में नकारात्मक ऊर्जा और सकारात्मक ऊर्जा का भी प्रवेश मुख्यद्वार से होता है। वास्तुशास्त्र में कुछ बेहद आसान और कारगर उपाय बताए गए हैं जिनसे सकारात्मक उर्जा को बढ़ाकर आप घर में सुख-समृद्धि और आनंद ला सकते हैं 

 रोग-शोक में आती है कमी 

भारतीय संस्कृति में स्वस्तिक का विशेष महत्व प्राप्त है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, मेन गेट के ऊपर सिंदूर से स्वास्तिक चिन्ह बनाएं। यह चिन्ह नौ अंगुल लंबा और नौ अंगुल चौड़ा होना चाहिए। ऐसा करने से सौभाग्य और समृद्धि में वृद्धि होती है, साथ ही रोग, शोक में कमी आती है।

  9सदस्यों की होती है तरक्की 

घर के सभी प्रकार के वास्तु दोष दूर करने के लिए मेन गेट पर एक ओर केले का वृक्ष और दूसरी ओर तुलसी का पौधा गमले में लगा दें। ऐसा करने से घर में ना सिर्फ वास्तु दोष से मुक्ति मिल जाएगी बल्कि घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होगा और घर के सदस्यों की तरक्की भी होगी।

 मकान बनने का बनेगा योग 

अगर प्लाट खरीद बहुत दिन हो गए हैं और उस पर मकान बनने में का योग नहीं बन पा रहा है तो उस प्लाट में अनार का पौधा पुष्य नक्षत्र में लगा दें। ऐसा करने से जल्द मकान बनने का योग बन जाएगा।

   इस तरह होती है धन की हानि 

घर में कभी भी टूटे बर्तन या खाट का प्रयोग नहीं करना चाहिए। टूटे-फूटे और बेकार बर्तन घर में जगह घेरते हैं, साथ ही इनमें खाना परोसने से गरीबी बढ़ती है और वास्तु दोष भी उत्पन्न होता है। साथ ही टूटी खाट रखने से घन की हानि होती है।

 वास्तु दोष का होता है निवारण 

बड़ा गोल आईना मकान की छत पर इस तरह लगाएं कि मकान की संपूर्ण छाया उसमें दिखाई देती रहे। ऐसा करने से आप वास्तु दोष का निवारण कर सकते हैं। वास्तु शास्त्र में आईने को उत्प्रेरक बताया गया है, जिसके द्वारा भवन में तरंगित ऊर्जा की सृष्टि सुखद अहसास कराती है।

   सुख समृद्धि का होता है वास 

रसोई घर को घर की सुख समृद्धि के लिए बहुत खास माना गया है। अगर रसोई घर गलत स्थान पर है तो अग्निकोण में बल्ब लगा दें और हर रोज ध्यान से सुबह-शाम उस बल्ब को जरूर जलाए रखें। इससे वास्तु दोष तो दूर होगा ही साथ ही घर में सुख समृद्धि का वास भी होगा।

   बुरी नजर से घर रहेगा सुरक्षित 

द्वार दोष और वेध दोष दूर करने के लिए शंख, सीप, समुद्री झाग, कौड़ी, लाल कपड़े में या मौली में बांधकर दरवाजे पर लटका दें। ऐसा करने से सकारात्मक ऊर्जा घर में आएगी और बुरी नजर से भी आपका घर सुरक्षित रहेगा।

   ईश्वर का प्राप्त होता है आशीर्वाद 

अपने घर के मंदिर में घी का एक दीपक हर रोज जलाएं और शंख की ध्वनि तीन बार सुबह और शाम के समय करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा घर से बाहर निकल जाती है और ईश्वर का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

   इस तरह के फूल हटा दें 

वास्तु शास्त्र के अनुसार, अपने घर के मंदिर में देवी-देवताओं पर चढ़ाए गए फूल हार दूसरे दिन हटा देने चाहिए और भगवान को नए फूल हार अर्पित करने चाहिए। तुलसी, बेल पत्र, नागरवेली पान, कमलगट्टा और अन्य फूल बाबत शास्त्रों में इन्हें जलाभिषेक के बाद उपयोग में लेने का विधान बताया है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट