तारपुर एम आई डी सी में डी आर आई मुंबई यूनिट की बड़ी कार्यवाही

 केमिकल कंपनी लाखो का एफिड्रिन नामक ड्रग्स बरामद

 पालघर ।   पालघर जिले के बोईसर तारापुर एम आई डी सी  के प्लाट नंबर टी 88 की मेस्सर्स जगदम्बा केमिकल्स कंपनी में नशीला पदार्थ बनाये जाने पर डी आर आई की मुंबई यूनिट   ने छापा मारकर  सैकड़ो  किलो का ईफेड्रिन नामक ड्रग्स व  कच्चा माल सहित कैश बरामद  करके कंपनी मालिक सहित तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज करके जांच में जुट गयी है ।प्राप्त जानकारी के मुताबित बोईसर तारपुर एम आई डी सी टी 88 जोन में स्थित जगदम्बा केमिकल के मालिक प्रदीप टोकडे  महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण मंडल व औद्योगिक सुरक्षा व आरोग्य संचालनालय  से  आॅर्गेनिक व इनआॅर्गेनिक केमिकल कंपाऊड  बनाने कें लिये परमिशन लिया था, परन्तु उसके  आड़ में  कंपनी मालिक दिन भर कंपनी बन्द रखता था और रात को अवैध तरीके से  ईफेड्रिन नामक नशीला  ड्रग्स जैसा पदार्थ  बनाता था। वहीं जिसकी खबर  डी आर आई के अधिकारियों   को गुप्त खबरियों से खबर मिलने  पर तुरन्त कंपनी में छापे मारी करके 483.53 किग्रा ईफेड्रिन नामक ड्रग्स बरामद करके कंपनी मालिक  प्रदीप टोकाडे सहित केमिस्ट रवि सिंह और राकेश खनिवडेकर को गिरप्तार कर एन डी पी एस एक्ट के तहत मामला दर्ज करके मुम्बई कोर्ट में पेश किया । कोर्ट ने जांच के लिए डी आर आई के हिरासत में भेज दिया है । वहीं  पकड़े गये माल की कीमत करीब 90 लाख का बताया जा रहा है मौके से  पांच करोड़ ड्रग्स बनाने का कच्चा माल बरामद किया है । ईफेड्रिन नामक ड्रग्स पदार्थ  इंसान को मंद बुध्दि बनाने तथा ब्लडप्रेसर के रोगी उपयोगी में लाया जाता है जो डॉक्टर के सलाह के बिना लेना घातक माना जाता है । डी आर आई अधिकारियों ने मीडिया को बताया की  कंपनी मालिक   कोल्हापुर के कृषि बेल्ट के चाँदगड तालुका में भी इस प्रोडक्ट की कंपनी डालकर  ड्रग्स बनाने  की तैयारी कर रहा था । वहां से एक लैबोरेटरी भी मिली। कोल्हापुर के दूसरे एक स्थान से नशीला पदार्थ एफिड्रिन भी जप्त किया गया।


रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट