परिसर में लगातार कौवों की मौत से हड़कंप, रिपोर्ट पॉजिटिव आयी तो बंद हो सकता है हाईकोर्ट

पटना। पटना हाई कोर्ट परिसर में पिछले दिनों तीन कौवों की मौत होने से हड़कंप मच गया है। पहले दिन एक कौवे की मौत हुई। उसका सैंपल जांच के लिए कोलकाता भेजा गया। इसी बीच दो और कौवों की मौत हो गई। उनके भी सैंपल जांच के लिए भेजे गये हैं। हाईकोर्ट को जांच रिपोर्ट का इंतजार है। रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो हाईकोर्ट को सोमवार से बन्द करने का निर्णय लिया जा सकता है। वहीं, लॉयर्स एसोसिएशन तथा बैरिस्टर एसोसिएशन ने अपने-अपने कार्यालय अगले आदेश तक बंद कर दिया है। एडवोकेट एसोसिएशन की ओर से कार्यालय बंद करने का कोई नोटिस जारी नहीं किया गया है, लेकिन साढ़े बारह बजे के बाद इसे बंद रखने का निर्देश दिया गया है। राज्य के महाधिवक्ता बिहार स्टेट बार काउंसिल के चेयरमैन ललित किशोर एवं हाईकोर्ट के तीन अधिवक्ता संघों के समन्वय समिति के अध्यक्ष योगेश चन्द्र वर्मा ने काउंसिल स्थिति एडवोकेट चैम्बर को 31 मार्च तक बंद रखने की अपील वकीलों से की है।  गुरुवार को एक संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि चैम्बर के सभी वकीलों से अपील है कि वे इस संकट की घड़ी में सहयोग करें, ताकि कोरोना वायरस के प्रकोप से बचा जा सके। उन्होंने बताया कि मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल, न्यायमूर्ति दिनेश कुमार सिंह, न्यायमूर्ति हेमंत कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य जजों के साथ कई बैठकें हुई हैं। कोरोना को लेकर सभी लोग सजग और चिंतित हैं। वकीलों, मुवक्किलों तथा हाईकोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था का मुख्य न्यायाधीश खुद समीक्षा कर रहे हैं.महाधिवक्ता ललित किशोर ने हाईकोर्ट के पूर्वी पश्चिमी गेट के आसपास सभी दुकानों को तुरंत बंद कराने का निर्देश पुलिस को दिया है। महाधिवक्ता ने बताया कि हाईकोर्ट परिसर में कौवों की एक ही स्थान पर मृत पाया गया था। जांच रिपोर्ट का इंतजार है लेकिन पता चला है रिपोर्ट पॉजिटिव है। स्थिति काफी गम्भीर हो गई है। इसी को लेकर कोर्ट परिसर के आसपास की सभी दुकानों को बंद कराने का निर्देश दिया गया है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट