कोरोना से लड़ाई: आरएमआरआई पटना के बाद डीएमसीएच दरभंगा होगा दूसरा जांच केंद्र

पटना। बिहार राज्य में आरएमआरआई, पटना के बाद दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल, दरभंगा में कोरोना वायरस का जांच केंद्र बनाया जाएगा। जांच केंद्र बनाने को लेकर आईसीएमआर (नेशनल काउंसिल आॅफ मेडिकल रिसर्च), नई दिल्ली ने अपनी सहमति प्रदान कर दी है। यह बातें स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कही। उन्होंने बताया कि यह बिहार का दूसरा जांच केंद्र होगा, जहां कोरोना के संदिग्ध मरीजों की जांच की जाएगी। श्री पांडेय ने कहा कि आईसीएमआर की सहमति के उपरांत ही किसी भी स्थान पर कोरोना वायरस का जांच केंद्र स्थापित किया जा सकता है। साथ ही, आईसीएमआर के नेशनल वॉयरोलॉजी लैब, पुणे से ही जांच के लिए आवश्यक कीट उपलब्ध कराया जाता है। इसके पूर्व  प्रधान सचिव संजय कुमार ने आईसीएमआर के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की। बैठक में आईसीएमआर, नई दिल्ली के निदेशक अन्य वरीय अधिकारी शामिल हुए। बैठक में प्रधान सचिव श्री कुमार ने बिहार में आरएमआरआई, पटना के अतिरिक्त एक अन्य जांच केंद्र स्थापित करने की मांग की। इस पर आईसीएमआर के द्वारा डीएमसीएच में जांच केंद्र स्थापित करने की सहमति प्रदान की गयी। श्री कुमार ने बताया कि कोरोना जांच को लेकर आईसीएमआर की ओर से पर्याप्त जांच कीट उपलब्ध कराने का भी आश्वासन दिया गया।  गुरुवार शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मुख्य सचिव, बिहार दीपक कुमार एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कोरोना वायरस से बचाव को लेकर राज्य में किए गए उपायों की अद्यतन जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि जल्द ही बिहार में दूसरा जांच केंद्र डीएमसीएच में स्थापित होगा। इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी गयी है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट