प्राइवेट हॉस्पिटल में बनेगा 25 बेड का आइसोलेटेड वार्ड

मोतिहारी। कोरोना वायरस महामारी घोषित होने के बाद रक्सौल एसडीओ अमित कुमार ने आपातकालीन चिकित्सा व्यवस्था को लेकर आॅल इंडिया मेडिकल एसोसिएशन की एक बैठक बुलाई। जिसमें आइसोलेटेड वार्ड बनाने, संसाधन के सहयोग,पारा मेडिकल स्टाफ की उपलब्धता आदि पर चर्चा हुई। एसोसिएशन से जुड़े डॉक्टरों को निर्देश दिया कि सभी डॉक्टर चिकित्सीय धर्म का पालन करते हुए आपदा की घड़ी में सहयोग करें। उन्होंने एसोसिएशन से रक्सौल स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल,नर्सिंग होम क्लिनिक का ब्यौरा लिया। उसमें सक्रिय चिकित्सक, नर्स,पारा मेडिकल स्टाफ की सूची भी ली। इस दौरान आपातकालीन स्थिति में रक्सौल के प्राइवेट हॉस्पिटलों में कम से कम 25 बेड का आइसोलेटेड वार्ड उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।साथ ही जरूरत पड़ने पर 150 बेड तक के आइसोलटेड वार्ड चिकित्सीय सेवा उपलब्ध कराने को तैयार रहने को कहा। आने वाले मरीजों को जागरुक करने विदेश या दूसरे प्रदेश से आये मरीजों से कॉन्टेक्ट ट्रैवल हिस्ट्री के साथ स्व घोषणा पत्र लेने का भी निर्देश दिया। कहा कि एसोसिएशन से जुड़े चिकित्सक कोरोना रोकथाम अभियान में जुट जाएं। वे भी ज्यादा से ज्यादा स्क्रीनिंग करें। इस क्रम में चिकित्सकों ने पीपीई किट जांच उपकरण की मांग की। इस पर उन्होंने कहा कि पहले चिकित्सक स्वास्थ्य कर्मी खुद सुरक्षित रहें। तब उपचार करें।सरकार हर कदम पर साथ है। संदिग्ध मरीज की जांच करें।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट