सुषमा के ट्वीट के बाद बहरीन में बंधक भारतीय महिला को मुक्त कराया


नई दिल्ली। बहरीन में बंधक बनाकर रखी गई एक भारतीय महिला को रविवार को भारतीय दूतावास ने मुक्त करा लिया। खास बात यह है कि एक मानवाधिकार संगठन द्वारा प्रकाश में लाए गए मामले के बाद इस संबंध में सुषमा स्वराज ने ट्वीट करके खाड़ी देश के भारतीय दूतावास को तुरंत कार्रवाई करने को कहा था।

इसके एक घंटे बाद ही दूतावास ने महिला को बचा लिए जाने का ट्वीट किया। भारतीय दूतावास ने कहा कि महिला को बहरीन अधिकारियों द्वारा बचाया गया है। शनिवार को एक मानवाधिकार संगठन ने ट्वीट किया था कि बहरीन में एक महिला को उसके मालिक ने बंधक बना लिया है। उसकी जान को भी खतरा है। संगठन ने महिला के हवाले से रविवार को कहा कि उसके मालिक ने उसे कम से कम 25 दिनों से बंधक बनाकर रखा है, क्योंकि उसका कहना है कि उसने उसके लिए बहुत सारे पैसे दिए थे। संगठन ने कहा, 'मालिक इस बात से बेहद नाराज है कि इस मामले की भारतीय अधिकारियों को जानकारी दे दी गई। हम उसकी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।' इसके तुरंत बाद भारतीय दूतावास ने ट्वीट करके बताया कि राजदूत आलोक कुमार के नेतृत्व में महिला को मुक्त कराने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। हालांकि इसी बीच विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने स्थिति को गंभीर बताते हुए कुमार से तत्काल हस्तक्षेप के लिए कहा। राजदूत आलोक कुमार को किए गए ट्वीट में सुषमा ने कहा, 'आलोक, मुझे पता है कि आप उसके बचाव के लिए काम कर रहे हैं। स्थिति गंभीर प्रतीत होती है। इसके लिए आपकी ओर से तत्काल हस्तक्षेप की आवश्यकता है। मुझे सूचित करें।' सुषमा के इस ट्वीट के बाद भारतीय दूतावास ने महिला को सकुशल मुक्त कराने का ट्वीट किया। बंधक महिला के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट