देश का प्रधानमंत्री कोई न कोई मराठी भी बन सकता है : फडणवीस


मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि 2050 तक कोई न कोई मराठी देश का प्रधानमंत्री हो सकता है। उन्होंने यह बात 16वें जगतिक मराठी सम्मेलन के उद्घाटन सत्र के दौरान कही। जब मुख्यमंत्री से पूछा गया कि क्या भारत 2050 तक कोई मराठी प्रधानमंत्री देखेगा? उन्होंने जवाब में हामी भरते हुए कहा कि साल 2050 तक महाराष्ट्र से एक से ज्यादा लोग प्रधानमंत्री पद पर आसीन हो सकते हैं।

मराठी भी हो सकता है देश का प्रधानमंत्री


उन्होंने सवाल का जवाब देते हुए कहा, 'हां क्यों नहीं, यकीनन हम देखेंगे...अगर संपूर्ण भारत पर सही मायनों में किसी ने वास्तव में राज किया है तो वह मराठी ही है और हममें अटक तक पहुंचने की क्षमता है। 2050 तक एक से अधिक मराठी पीएम के पद पर काबिज होंगे।' बता दें कि 18वीं सदी में अटक पर मराठा सेना ने विजय प्राप्त की थी, ये जगह अब पाकिस्तान में स्थित है।

कार्यक्रम में गडकरी भी थे मौजूद


इस कार्यक्रम में फडणवीस के अलावा केंद्रीय मंत्री व नागपुर के सांसद नितिन गडकरी भी मौजूद थे। हालांकि, फडणवीस के इस बयान के बाद वह कार्यक्रम स्थल से चले गए थे। कांग्रेस नेता सुशील कुमार सिंद कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। इसस पहले गडकरी ने कहा था, 'मराठी पहचान को राष्ट्रीय पहचान के साथ संरक्षित करना आवश्यक है और दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं।'स दौरान फडणवीस से मराठा आरक्षण के भी मुद्दे पर भी सवाल पूछा गया। उन्होंने कहा, 'अगर हर समुदाय को आरक्षण दिया जाएगा, तब भी युवाओं को
 90 फीसद सरकारी नौकरियां नहीं दी जा सकेंगी। सरकार हर साल केवल 25 हजार नौकरियां दे सकती है। आरक्षण उपाय नहीं है।'

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट