भुगतान में देरी पर महाराष्ट्र के किसानों ने चीनी मिलों में की तोड़फोड़, लगाई आग


मुंबई,  भुगतान में देरी पर गुस्साए किसानों ने पिछले दो दिनों में पश्चिमी महाराष्ट्र की कई चीनी मिलों के दफ्तरों में तोड़फोड़ की और उन्हें आग के हवाले कर दिया। कृषि संगठनों के अनुसार, प्रदेश की चीनी मिलों पर किसानों के 4,500 करोड़ रुपये बकाया हैं।

पुलिस ने बताया कि गुस्साए प्रदर्शनकारी किसानों ने शुक्रवार को सतारा जिले के करद में एक चीनी मिल के दफ्तर में तोड़फोड़ की। महत्वपूर्ण दस्तावेज, कंप्यूटर और फर्नीचर में आग लगा दी। पड़ोसी जिले सांगली में शनिवार को किसानों ने चीनी मिल को आग के हवाले कर दिया। कोल्हापुर के शिरोल में चीनी मिल के सामने बड़ी संख्या में किसान इकट्ठा हुए और उसके दफ्तर को नुकसान पहुंचाया। इन मामलों में रिपोर्ट दर्ज की गई हैं, लेकिन किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। स्वाभिमानी सेतकारी संगठन के प्रवक्ता योगेश पांडेय ने कहा कि मिल पिछले साल की चीनी के स्टॉक बचे होने की बात कहते हैं, लेकिन उन्होंने चीनी के सह उत्पादों से काफी कमाई की है। उन्हें किसानों के बकाये का शीघ्र भुगतान करना चाहिए।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट