विरार नाले में बहते मिले मानव अंग, खुलासा हुआ तो ये भयानक सच सामने आया


विरार के नाले में बहते हुए मिले मानव अंगों के मामले में पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। अरनाला पुलिस ने बताया कि विरार में हुई नृशंस हत्या के मामले में पुलिस ने 42 साल पिंटू शर्मा को हिरासत में लिया है। हालांकि पुलिस को अब तक मृतक का सिर और हड्डियां नहीं मिली हैं। पुलिस ने पिंटू को मुंबई से गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि उसने अपने दोस्त 58 साल के गणेश की एक लाख रुपए लौटाने में आनाकानी करने पर हत्या कर दी। आरोपी पिंटू ने गणेश का सिर फोड़ दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई। आरोपी के अनुसार पिछले बुधवार को एक लाख रुपए के लेनदेन को लेकर दोनों के बीच जमक विवाद हुआा था। विवाद के दौरान पिंटू शर्मा ने मृतक गणेश का सिर जमीन पर पटक दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई। जब गणेश की मौत हो गई तो पिंटू ने हेक्ज़ा ब्लेड से मृतक गणेश के कई टुकड़े किए और उन्हें विरार पश्चिम के नाले में फेंक दिया। पुलिस के एक आला अधिकारी ने बताया कि पूछताछ में पिंटू ने अपना जुर्म स्वीकार लिया। पुलिस आरोपी की अभी और रिमांड चाहती है क्योकिं अब तक मृतक का सिर और हड्डिया नहीं मिल सकी हैं।वहीं मेडिकल ऑफिसर डॉ. ऋगवेद और डॉ. डूधत का कहना है कि गणेश की मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है क्योंकि बॉडी बुरी तरह से छोटे छोटे टुकड़ों में काटी गई थी। वहीं पुलिस को जो सैंपल मिले हैं, उनकी डीएनए जांच के लिए कालीना लेबोरेटरी में भेजे गए हैं। बता दें कि पुलिस को मंगलवार को विरार वेस्ट की हाउसिंग सोसाइटी के नाले में मानव मांस के सैकड़ों टुकड़े मिले थे। मामला तब सामने आया जब एवरशाइन एवेन्यू के बचराज पैराडाइस के रहवासियों ने ड्रेनेज सिस्टम चोक होने पर देखा कि मानव अंग नाले में बह रहे हैं।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट