महाराष्ट्र में खुलेंगे 18 कैंसर सेंटर, अंबानी अस्पताल के 10 साल पूरे


मुंबई. कैंसर मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए भारत के सबसे बड़े मल्टीस्पेशलिटी स्वास्थ्य संस्थानों में से एक कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हॉस्पिटल (केडीएएच ) ने राज्य में 18 कैंसर सेंटर शुरू करने की घोषणा की है. अस्पताल की चेयरमेन टीना अंबानी ने कहा कि मरीजों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए अकोला व गोंदिया में सेंटर की शुरुआत की जा चुकी है, जबकि मार्च महीने तक सोलापुर में तीसरे सेंटर की शुरुआत कर दी जाएगी. जल्द ही राज्य के अन्य भागों में भी कैंसर मरीजों के उपचार के लिए सेंटर शुरू की किए जाएंगे. अंबानी अस्पताल को मरीजों की सेवा करते हुए 10 वर्ष पूर्ण हो गए है. अस्पताल में आयोजित कार्यक्रम में टीना अंबानी ने कहा कि सूरत और राजकोट की क्लिनिक्स और टेलीमेडिसिन सेंटर्स 2016 से चल रहे है. बाल ह्रदय संबंधी विज्ञान और कैंसर में क्लिनिकल संशोधन के लिए कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च इंस्टिट्यूट और बोस्टन चिल्ड्रेन्स हॉस्पिटल, मेमोरियल स्लोअन केटरिंग कैंसर सेंटर और यूएसए के नैशनल कैंसर इंस्टिट्यूट के बीच चर्चा चल रही है. देश में चिकित्सीय संशोधन को आगे बढ़ाते हुए अस्पताल ने 112 रिसर्च प्रोजेक्ट्स,  22 अंतर्राष्ट्रीय मल्टीसेंट्रिक ड्रैग ट्रायल्स किए हैं .अंबानी ने कहा कि केडीएएच वर्ष 2020 तक इंदौर व रायपुर में 2 नए अस्पताल शुरू करने करने की घोषणा की है.

अमिताभ ने की सराहना

अस्पताल के 10 साल पूरे होने के अवसर पर अभिनेता अमिताभ बच्चन भी अंबानी अस्पताल में पहुंचे. अमिताभ ने राज्य के ग्रामीण इलाकों में कैंसर सेंटर शुरू करने की योजना की सराहना की. उन्होंने कहा कि इस योजना का सबसे अधिक लाभ ग्रामीण वासियों को मिलेगा. अस्पताल के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर डॉ राम नारायण ने कहा कि कोकिलाबेन हॉस्पिटल ने पिछले एक दशक में चिकित्सा क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रदर्शन और संशोधन पर गौरवपूर्ण काम किया है. आने वाले सालों में क्लिनिकल प्रदर्शन को सर्वोत्तम बनाने की योजना पर वह काम कर रहे हैं.

हर साल 3 लाख मरीजों का उपचार

वर्ष 2009 में अस्पताल शुरू हुआ था. हर साल 3 लाख से अधिक मरीज उपचार के लिए अस्पताल आते है. इसमें से 20 प्रतिशत मरीज उपचार के लिए विदेश से आते है. अस्पताल में 7000 से अभी अधिक बच्चों की हार्ट सर्जरी की जा चुकी हैं इनमें से 60 प्रतिशत बच्चे 30 दिनों से भी कम आयु के थे. अस्पताल ने 97 फीसदी मामलों में सफलता हासिल की है यह यूएसए के बोस्टन चिल्ड्रेन्स हार्ट हॉस्पिटल के बराबरी का है. वर्ष 2018 में 600 रोबोटिक सर्जरी की गई है.

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट