फुटबॉल के गोल की भांति जीवन का लक्ष्य निर्धारित करें - डॉ सुनील लहाने


मीरा-भायंदर। फुटबॉल में गोल करना जैसे टीम के एक खिलाडी की परीक्षा होती है, उसी प्रकार जीवन का लक्ष्य भी गोल की भांति निर्धारित करें। यह बातें मनपा के अतिरिक्त आयुक्त डॉ सुनील लहाने ने भायंदर पूर्व स्थित शंकर नारायण महाविद्यालय में एचएससी के विद्यार्थियों के विदाई समारोह में उन्हें संबोधित करते हुए कही। इस दौरान उन्होंने कहा कि जीत-हार की अपेक्षा परीक्षा के समक्ष उत्साहपूर्वक जाना महत्वपूर्ण है। सफलता से बढ़कर कुछ भी नहीं है, यह आमतौर पर माना जाता है।  आज के प्रतिस्पर्धी दौर में सफलता के पीछे अंधाधुंध दौड़ में शामिल होते समय हम अपने उत्साह तथा अनुभव को भूल जाते हैं। लहाने ने कहा कि आज आपने महाविद्यालय का अनुभव ले प्राध्यापकों का मार्गदर्शन प्राप्त किया है। इसी कड़ी में परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ करने का प्रयास करें। उन्होंने इसके साथ ही आजीवन सक्रिय रहने की सलाह भी विद्यार्थियों को दी। इस दौरान डॉ लहाने ने अपने महाविद्यालयीन जीवन के अनुभव भी उनसे साझा किए। उन्होंने विद्यार्थियों को परीक्षा में सफलता की शुभकामनाएं दीं। 

 श्री शंकरनारायण एज्युकेशन ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष तथा मनपा सभागृह नेता रोहिदास पाटिल ने महाविद्यालय के बेहतर परीक्षा परिणामों का श्रेय विद्यार्थियों को दिया।  उन्होंने कहा कि यह संसथान किसी एक जाति-वर्ग का न होकर सर्वसमुदाय के लिए है। उन्होंने मोबाईल के सामाजिक महत्त्व पर जोर देते हुए इसके सदुपयोग का आग्रह विद्यार्थियों से किया। इस दौरान कला संकाय की छात्रा निधि सिंह ने प्रद्यापकों के मार्गदर्शन का पूरा-पूरा उपयोग परीक्षा में अधिकाधिक अंक हासिल करने के लिए करने का भरोसा विद्यार्थियों की ओर से दिलाया। वाणिज्य संकाय की ऋतिका दुक्कर, ने अपने अनुभव सुनाए। संतोष कानडे  ने हरिवंशराय बच्चन की कविता " कोशिश करने वाकों की कभी हार नहीं होती" की प्रस्तुति से लोगों का मन मोहा। विदित हो कि पिछले कुछ वर्षों से परीक्षा के दौरान विद्यार्थियों में भारी तनाव की स्थिति चर्चा का विषय बनी हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी "परीक्षा पर चर्चा" कार्यक्रम के जरिए परीक्षा के दौरान तनावमुक्ति के गुर बच्चों को सिखाए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा है कि जैसे हमारे देश में अनेक पर्व मनाए जाते हैं, वैसे ही परीक्षा भी एक पर्व है, जिसका सामना विद्यार्थियों को पूरे उत्साह के साथ करना चाहिए। प्रधानमंत्री के इसी सन्देश को आगे बढ़ाते हुए   के इसी सूत्र को आगे बढ़ाते हुए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  इस दौरान बोर्ड परीक्षा के लिए पंजीकृत सभी 1400 विद्यार्थी उपस्थित थे। कार्यक्रम में डॉ सुनील लहाने, संस्थापक अध्यक्ष रोहिदास पाटिल के साथ ही सचिव महेश म्हात्रे, पूर्व नगरसेविका कल्पना म्हात्रे, एमबीए संसथान के ज्वाईंट डॉयरेक्टर वीएस पाटिल, प्राचार्य डॉ विष्णु यादव आदि मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन निमेष पाटिल तथा मिलिंद पवार ने किया।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट