बिहार बारिश: कई दिनों से घर में कैद महिला को किया गया रेस्क्यू, बाहर आते ही फूट-फूटकर रोने लगी


·        बिहार की राजधानी पटना में बारिश के पानी से बाढ़ जैसे हालात, कई दिनों से घरों में कैद हैं लोग

·        घरों में भूखे-प्यासे कैद लोगों को किया जा रहा है रेस्कयू, आफत को याद कर भावुक हो रहे हैं लोग

·        कंकड़बाग इलाके में जब एक महिला को रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया तो वह फूट-फूटकर रोने लगी

·        सवाल पूछने पर पत्रकारों पर भड़के सीएम नीतीश कुमार, बोले- आप लोगों की कोई जरूरत नहीं

पटना
बिहार की राजधानी पटना में बारिश के बाद की बदइंतजामी ने लोगों की आंखें खोल दी हैं। पानी निकलने में और स्थिति बहाल होने में अभी कुछ वक्त और लगेगा। कई दिनों से घर में भूखे-प्यासे कैद लोगों को रेस्क्यू किया जा रहा है। इस दौरान अपने कठिन वक्त को याद करते हुए लोग भावुक हो जा रहे हैं। पटना के कंकड़बाग इलाके में एक महिला को रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया तो वह रोने लगी।

बारिश के चलते कई दिनों से घर में कैद महिला और उसके परिवार को बुधवार को सुरक्षित बाहर निकाला गया।

रिक्शेवाले की आंखों से छलके थे आंसू
इसी तरह एक रिक्शेवाला का दर्द छलकने वाला एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस विडियो में सीने भर पानी भरी सड़क पर एक रिक्शेवाले को अपने रिक्शे के साथ जाते देखा जा रहा है। रिक्शा चालक पटना की सड़कों पर भरे पानी में फंस गया। अपने हाल पर उसके आंसू छलक गए। इस दौरान पूरे घटनाक्रम को एक दंपती ने कैमरे में कैद कर लिया। कहा जा रहा है कि यह विडियो राजेंद्रनगर का है। नीतीश सरकार घेरे में


पटना और अन्य इलाकों में बारिश के बाद बदइंतजामी को लेकर नीतीश कुमार की सरकार सवालों के घेरे में है। शहर के पॉश माने जाने वाले इलाकों में कई फीट पानी इकट्ठा है। गली-मुहल्लों में नाव चल रही है। इस बीच बीजेपी ने भी बाढ़ से निपटने को लेकर नीतीश सरकार पर निशाना साधा है। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बाद अब बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने पटना में बाढ़ और जलभराव को लेकर नीतीश सरकार पर प्रशासनिक अनदेखी का आरोप लगाया है।


मीडिया पर भड़के थे नीतीश
इससे पहले पटना के बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा करने के बाद जब मीडिया ने सीएम नीतीश कुमार से शहर की स्थिति के बारे में जानकारी मांगी तो वह भड़क गए। नीतीश ने कहा, 'हम पूछ रहे हैं कि देश के कितने हिस्सों में पानी आया है और दुनिया के कितने हिस्सों में पानी आया है। सिर्फ पटना के कुछ मोहल्लों में पानी आया है, क्या वही समस्या है? ये दुनिया में कहां है और अमेरिका में क्या हुआ। आप लोगों को जो मन आए वह करिए, आप लोगों की कोई जरूरत नहीं है। आप लोग जनजागरण के लिए भी कोई काम नहीं करिएगा।'

मरने वालों का आंकड़ा 42 पहुंचा
पटना के कई इलाकों में अभी बिजली सप्लाइ बहाल नहीं हो पाई है। वहीं, बारिश का पानी निकालने और राहत अभियान में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के जवान जुटे हुए हैं। पंपिंग सेट के जरिए पानी को निकालने की कोशिश की जा रही है। इस बीच बिहार में बारिश से जुड़े हादसों में मरने वालों की तादाद 42 हो गई है।

 news by /Pradeep maurya patna 


 

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट