दिल्ली को दहलाने की साजिश रच रहा जैश-ए-मोहम्मद, नौ जगहों पर छापेमारी

देश की राजधानी दिल्ली पर आतंकी हमले को लेकर बुधवार को रेड अलर्ट जारी किया गया। त्योहारी मौसम का फायदा उठाकर आतंकी राजधानी को दहलाने की फिराक में हैं। खुफिया जानकारी मिली है कि दिल्ली में तीन-चार कट्टर आतंकी मौजूद हैं। सूत्रों के अनुसार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती (फिदायीन) आतंकी पिछले हफ्ते शहर पहुंच गए हैं। बताया जा रहा है कि यह आतंकी जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को निष्प्रभावी करने का बदला लेना चाहते हैं। राजधानी में मौजूद आतंकियों में कम से कम दो विदेशी (पाकिस्तानी) आतंकी है। रात के नौ बजे दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और खुफिया एजेंसियों ने शहर के नौ स्थानों पर छापेमारी की। दो संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। छापेमारी सीलमपुर और उत्तर पूर्वी दिल्ली के दो स्थानों, जामिया नगर और सेंट्रल दिल्ली के पहाड़गंज स्थित दो जगहों पर की गई। बता दें कि जैश अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही जवाबी कार्रवाई की धमकी दे रहा है। वहीं सुरक्षा एजेंसियां पिछले कुछ समय से लगातार अलर्ट जारी कर रही हैं। यह ताजा अलर्ट भी उसी संबंध में है। विदेशी खुफिया एजेंसी ने कुछ दिनों पहले जैश के ऑपरेटिव और उसके हैंडलर की बातचीत को इंटरसेप्ट किया था। विदेशी खुफिया एजेंसी के अनुसार जैश भारत में सितंबर 25 और 30 के बीच आतंकी हमले की योजना बना रहा था। जिसके बाद जम्मू, अमृतसर, पठानकोट, जयपुर, गांधीनगर, कानपुर के साथ-साथ लखनऊ सहित कुल 30 शहरों को हाई अलर्ट पर रखा गया। खुफिया इनपुट के अनुसार जैश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को अपना निशाना बनाने के लिए स्पेशल स्कवायड को तैयार कर रहा है। एक खुफिया अधिकारी का कहना है कि यह वही स्कवायड हो सकता है जो दिल्ली में दहशत फैलाने के इरादे से आया है।




    पांच अगस्त के बाद से ही जैश अपने फिदायीन हमलावरों को सीमापार से भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए भेजने की कोशिश कर रहा है। उच्च खुफिया अधिकारी ने बताया कि इस ऑपरेशन को मौलाना मसूद अजहर और उसका बेटा संचालित कर रहे हैं।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट