आयुष्मान भारत योजना भाजपा का चुनावी लॉलीपॉप है IMA सेमिनार मे भड़के डाक्टर

इंडियन मेडिकल एशोसियन मीरा रोड इकाई द्वारा आयोजित कार्यक्रम में महाराष्ट्र सहित देश के अलग अलग राज्यो पहुचे डॉक्टरों ने जहाँ मेडिकल साइंस के नए नए शोध पर अपनी जानकारी दी, वही डॉ के खिलाफ सरकार के रवैये पर आपत्ति व्यक्त किया,तथा आयुष्मान भारत योजना को सरकार का चुनावी लॉलीपाप कहा।

            इंडियन मेडिकल एसोसिएशन  (मीरारोड) इकाई  ने रविवार को मीरारोड में एक कार्यक्रम आयोजित किया आयोजक डॉ राजीव अग्रवाल ,व डॉ राखी अग्रवाल ने बताया कि इस सेमिनार में  महाराष्ट्र सहित देश के अलग अलग राज्यो से  डाक्टर पहुचे और वर्तमान में मेडिकल साइंस के नए नए खोज की जानकारी अन्य डाक्टरो को दी,कुछ बरिष्ठ डॉक्टरों ने सिख देते हुए कहा  कि हमलोगों ने अंदर सेवा भाव होना भी जरूरी है।जबकि केंद्र सरकार की नीतियों पर भड़कते हुए उनलोगों ने कहा की  सरकार डाक्टरो को कुछ विशेष कानून लाकर उनको ह्रास करने का प्रयास कर रही है ।हमारे प्रधानमंत्री दवाई के बढ़ते दामो को लेकर डाक्टरो को दोषी मानते है जबकि दवाई के मूल्य नियंत्रण से हमारा कोई लेना देना नही है।जबकि ( IMA) महाराष्ट्र स्टेट सेकेट्री  डॉ पार्थिव संघवी ने सरकार द्वारा चलाये जा रहे आयुष्मान भारत योजना के बारे में बताया कि योजना तो सही है लेकिन सरकार जितना फंड दे रही हैउसमें 10 करोड़ परिवार यानी लगभग 50 करोड़ लोग को इसका लाभ मिलना नामुमकिन है म आप इसका हिसाब लगा कर देखिए ,सरकार की  सोच अच्छी है लेकिन इसको लक्ष्य तक पहुचने के लिए 2.5 लाख करोड़ का फंड चाहिए। इतना फंड के बिना यह लोगो के लिए सिर्फ चुनावी लॉलीपाप साबित होगी ।कार्यक्रम में डॉ, मधु चंदा खार,वाई एस देशपांडे,शिवकुमार ,रविन्द्र कूटे,अशोक शुक्ला,विवेक दुवेदी ,आर के शर्मा सहित सेकड़ो  डॉक्टर शामिल हुए।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट